Ensuring every child a happy and healthy life.
Striving for lives of equality and dignity.
Learning innovative skills and adopting new technologies for security against impoverishment.
Engaging collectively to seize the available opportunities of healthier, longer and more productive life.
Walking an extra mile to adopt green technologies.

PANI is a voluntary organisation based in Faizabad, Uttar Pradesh. We envision ourselves as a medium for building an inclusive society that prospers in harmony with its surroundings. All our work is based on the inherent dignity and worth of people and we continuously seek to innovate strategies to make this a lived reality in all spheres of life.

Achievements
शालिनी चैाहान बनी सामाजिक बदलाव की मिशाल
रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार वर्ष 2018 के लिये सम्मानित

शालिनी चैाहान, ग्राम-सेहरा जलालपुर, ब्लाक भीटी व जिला अम्बेडकरनगर की स्थायी निवासिनी है। शालिनी चैाहान, पानी संस्थान द्वारा प्रोत्साहित ब्लाक स्तरीय बाल संघ (बाल विकास मंच) की अध्यक्ष रह चुकी है एवं वर्तमान में पानी संस्थान एवं प्लान इण्डिया द्वारा प्रोत्साहित अम्बेडकरनगर जिले की पानी- प्लान यूथ एडवाइजरी पैनल की अध्यक्ष है। शालिनी चैाहान को असाधारण सामाजिक कार्य के लिये माननीय योगी आदित्यनाथ, मुख्य मंत्री, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दिनांक 29.03.2018 को वर्ष 2018 के लिये रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया गया। गौर तलब हो कि शालिनी चैाहान विगत 7 वर्षेा से बाल जागृति मंच (बाल संगठन) से जुड़ी एवं आगे चलकर ब्लाक स्तरीय बाल संघ (बाल विकास मंच) की अध्यक्ष बनी। इस दौरान शालिनी चैाहान को पानी संस्थान द्वारा विभिन्न सामाजिक एवं बच्चों के मुद्दो, बाल अधिकार एवं बाल मीडिया पर प्रशिक्षित किया गया एवं चयनित संस्थाओं में भ्रमण भी कराया गया। साथ ही दक्षता विकसित करने एवं बाल मुद्दों को उठाने हेतु ब्लाक, जिला व प्रदेश स्तर पर मंच भी उपलब्ध कराया गया। शालिनी चैाहान द्वारा बाल संरक्षण के अन्य विभिन्न मुद्दे जैसे बाल श्रम, बाल उत्पीड़न, लिंग भेद, घरेलू हिंसा, कन्या भू्रण हत्या, विद्याालय स्तरीय पर शारीरिक दण्ड आदि कई मुद्दे पर समुदाय को जागरूक करने का कार्य किया। विद्यालय न जाने वाले 25 बच्चों को विद्यालय में नामांकित कराया एवं अनियमित बच्चों को समझाकर तथा उनके अभिभावक को उत्प्रेरित कर विद्यालय में नियमित करवाया। स्वच्छता के क्षेत्र में परिवारों को साफ-सफाई के प्रति व खुले में शैांच न करने हेतु, विद्यालयी बच्चों की व्यक्गित स्वच्छता हेतु समुदाय को जागरूक करने का कार्य किया है एवं विद्यालय प्रबन्धन समिति के साथ विद्यालय में भ्रमण कर शिक्षागुणवत्ता को बढ़ाने एवं विद्यालय स्वच्छता हेतु पंचायत व विद्यालय प्रबन्धन समिति को उनके कार्य एवं उत्तरदायित्व के प्रति प्रेरित कर रही है।

शालिनी खुद की पढ़ाई बच्चों को ट्यूसन पढ़ाकर जारी रखी हुई है और अन्य बालिकाओं की उच्च शिक्षा हेतु उन्हें व उनके अभिभावकों को प्रेरित करती रहती है। साथ ही बच्चों के अन्य मुद्दों को चिन्हित कर समाधन हेतु प्रयास कर रही है।

वर्ष 2018 में पानी संस्थान व प्लान इण्डिया के सहयोग से चलाये गये बाल विवाह नियन्त्रण अभियान के अन्तर्गत शालिनी चैाहान द्वारा समुदाय को जागरूक करने के साथ-साथ 16 तय की गयी सादियों की उम्र की निगरानी की गयी और उसमें चिन्हित 1 बाल विवाह को रुकवाया भी गया। शालिनी चैाहान ने विगत तीन वर्ष पहले अपनी तय शादी को स्वयं के प्रयास से रुकवाया था और तब से आज तक उसने 10 (7 बालिका, 3 बालक) तय बाल विवाहों को रोकने में सफलता हासिल की है। विदित हो कि शालिनी चैाहान को बालका शिक्षा के क्षेत्र में असाधारण प्रयास के लिये वर्ष 2014 में क्लीनिक प्लस प्रेरणा पुरस्कार से नवाजा गया था एवं सामाजिक क्षेत्र में असाधारण कार्य के लिये वर्ष 2017 में प्लान इण्डिया इम्पैक्ट अवार्ड (युवा) से सम्मानित किया गया था।

Together, We Achieve Results
Certificates